अपार धन और प्रतिष्‍ठा दिलाएंगे राहु-केतु, जानिए कैसे करें इन्‍हें प्रसन्‍न

Rahu Ketu ke shanti ke upay

आम तौर पर जब किसी व्‍यक्ति पर राहु और केतु की महादशा चलती है तो लोगों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ता है। हालांकि, आपको यह जानकर आश्‍चर्य होगा कि अगर राहु केतु जैसे ग्रह मेहरबान हो जाएं तो आपको सभी सांसारिक सुख देते हुए शिखर पर पहुंचा देते हैं। शास्‍त्रों के अनुसार, राहु का दायांभाग काल और बायां सर्प है। कुंडली में कालसर्प दोष भी इन्‍हीं ग्रहों के कारण होते हैं। अगर आप भी राहु केतु के बुरे प्रभाव से पीडि़त हैं तो चिंता मत कीजिए। ऐसे कई सरल उपाय हैं जिनसे आप इन ग्रहों के दुष्‍प्रभावों को दूर कर सकते हैं। अगर ये ग्रह प्रसन्‍न हो गए तो समझिए जीवन में धन और मान-सम्‍मान की कोई कमी नहीं रहेगी।

तत्‍काल छोड़ दें शराब का सेवन, करें माता-पिता की सेवा
जिन लोगों की कुंडली में राहु केतु की महादशा या अंतर्दशा चल रही हो उन्‍हें शराब का सेवन तत्‍काल छोड़ देना चाहिए। नहीं तो इसके परिणाम बड़े घातक साबित हो सकते हैं। कुपित होने पर राहु-केतु मृत्यु या मृत्यु समान कष्ट देते हैं। शराब और दूसरे नशाओं को छोड़कर राहु और केतु से प्रभावित लोगों को अपने माता-पिता और पितरों की सच्‍चे मन से सेवा करनी चाहिए। इससे इन दोनों ग्रहों के दुष्‍प्रभाव कम हो जाते हैं।

भगवान शिव की करें पूजा, मजदूरों में बांटें तंबाकू
जो व्‍यक्ति शिव की आराधना करते हैं उन्‍हें मृत्‍यु के समान कष्‍ट देने वाले राहु और केतु भी प्रभावित नहीं कर पाते। किसी भी सोमवार से आप भगवान शिव की पूजा शुरू कर सकते हैं। शाम को शिवजी की मूर्ति या तस्‍वीर के सामने घी का दीपक जलाएं और उसके बाद सफेद मीठा नैवेद्य जैसे दूध से बनी मिठाई या खीर का भोग लगाएं। शिवलिंग का कच्‍चे दूध से अभिषेक करें और बेलपत्र चढ़ाएं। संभव हो तो नियमित रूप से महामृत्‍युंजय मंत्र का यथा संभव जप करें। इसके अलावा, शनिवार को मजदूरों को तंबाकू का दान करने से भी राहु और केतु के कारण होने वाले कष्‍ट कम हो जाते हैं।

शनिवार को करें ये खास उपाय
किसी भी शनिवार से आप राहु की अपार कृपा प्राप्‍त करने के लिए ये उपाय शुरू कर सकते हैं। इसे 40 शनिवार को लगातार करना है। अपने घर के पास बहते किसी गंदे नाले में शनिवार को सूर्यास्‍त के बाद दो-चार बूंदें शराब की डालें और राहु देव से प्रार्थना करें कि वह आप पर कृपा करें और सारे दुख दूर करें। घर लौटते समय पीछे मुड़ कर न देखें। कभी भूल से भी उस गंदे नाले में पेशाब न करें। राहु की अपार कृपा प्राप्‍त होगी और सारे दुख दूर होंगे। अगर संभव हो तो किसी लावारिस लाश का पूरे विधि विधान के साथ अंतिम संस्‍कार करवाएं। यह अचूक उपाय है।