बार-बार आ रही छींक को न करें अनदेखा, हो सकती है यह परेशानी

इनदिनों सर्दी-जुकाम से लगभग हर दूसरा व्‍यक्ति परेशान है। इसमें लगातार छींकें आने की वजह से सिरदर्द और बदन दर्द बना रहता है। आजकल कोरोना वायरस भी अपने पैर पसार रहा है जिसका मुख्‍य लक्षण खांसी व जुकाम है। हालांकि कोरोना वायरस से पीडित व्‍यक्तियों को सामान्‍य लोगों से दूर रखा गया है लेकिन फिर भी हमें सावधानी बरतनी चाहिए।

जुकाम से निजात पाने  के लिए लोग सामान्‍य दवाईयों का प्रयोग करते हैं जो कई बार कारगर सिद्ध होती हैं और कई बार नाकाम हो जाती हैं। शुरुआती जुकाम में यदि घरेलू उपचार का सहारा लिया जाए तो काफी फायदा मिलता है।   इस अवस्‍था में पहले 24 घंटे काफी निर्णायक होते हैं। क्‍वीन मैरी यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन के वायरलॉजिस्‍ट प्रोफेसर जॉन ऑक्‍सफोर्ड इसके शुरुआती स्‍टेज और इससे मुक्ति पाने के तरीकों के बारे में बताते हैं।

उन्‍होंने बताया कि जुकाम का कारण बनने वाले यह वायरस कभी भी और कहीं भी आपको शिकार बना सकते हैं। आपको बता दें कि एक बार सांस लेने पर 10,000 से भी अधिक वायरस आपके शरीर में जा सकते हैं। इनमें से लगभग 100 ही ऐसे वायरस होते हैं जो नाक और गले के एपीथेलियन सेल्‍स पर वार करते हैं। इससे बचने के लिए आपको अपनी लाइफस्‍टाइल पर ध्‍यान देना होगा।

–    विशेषज्ञों का मानना है कि यदि सुबह उठकर शहद और नींबू का मिश्रण खाया जाए तो यह जुकाम में मददगार साबित हो सकता है।

–    बाहर से आने के बाद या कोई भी काम करने से पहले साबुन से अच्‍छी तरह हाथ धोएं। किसी भी पीडित व्‍यक्ति खासकर जिसे जुकाम हो उससे  दूर रहें।

–    अपने खान-पीने का विशेष ध्‍यान रखें। जुकाम होने पर चिकन सूप सबसे अच्‍छा खाद्य पदार्थ माना जाता है। यह जुकाम में जल्‍द से जल्‍द राहत देने में सहायता करता है।

–    जुकाम के दौरान विटामिन सी युक्‍त भोजन खाएं। जुकाम से पीडित व्‍यक्ति के साथ बेड शेयर न करें।

–    4 से 5 दिन तक यदि जुकाम की स्थिति में सुधार न आए तो डॉक्‍टर से जरूर संपर्क करें।

–    जुकाम या खांसी होने पर अधिक से अधिक गर्म पानी का सेवन करें।