किचन के इन मसालों में छुपा है हल्‍की खांसी, बुखार और थकान का इलाज

spices for cough

इस बदलते मौसम में कई लोग हल्‍की खांसी, बुखार और जुकाम की समस्‍या से परेशान हैं। हालांकि मौसमी खांसी और बुखार को लोग कोरोना वायरस से जोड़ लेते हैं लेकिन ऐसा नहीं है। यदि आप पहले से ही घरेलू इलाज का सहारा लें तो शुरूआती खांसी व बुखार को कंट्रोल किया जा सकता है। डॉ. राजेश गुप्‍ता का कहना है कि हमारे किचन में ही कई ऐसे मसाले हैं जो मौसमी बीमारी से आसानी से निजात दिला सकते हैं। अपनी इम्‍यून सिस्‍टम को भी इन मसालों द्वारा मजबूत किया जा सकता है लेकिन एक बार अपने विशेषज्ञ की सलाह
जरूर लेलें।

शक्तिवर्धक मसाले

भारतीय मसालों को विदेशों में भी आयुर्वेद की दृष्‍टि से सबसे उत्‍तम माना गया है। दालचीनी, काली मिर्च, इलायची, चक्र फूल और लौंग को अपने भोजन में जरूर शामिल करें। इसके साथ ही हल्‍की खांसी और जुकाम में सूखी हल्‍दी और अदरक का काढ़ा बनाकर लेने से आसाम मिलता है।

Eyesight Improvement Tips: हटाना चाहते हैं नजर का चश्मा, तो डेली करें ये एक्सरसाइज

फ्रेश फूड का करें चुनाव

खांसी और जुकाम के दौरान खाने का मन नहीं करता ऐसे में चटपटा खाना पसंद आता है। इस दौरान ताजा पकाया हुआ और गर्म भोजन खाएं। पेट को आराम देने के लिए जरुरी है कि चावल का मांड़ और मूंग की दाल का सूप बिना मसाले के सेवन करें। अधिक भोजन करने से बचें और रात का भोजन 7 बजे से पहले कर लें।

अदरक है गुणों से भरपूर

सूखा अदरक और तुलसी की पत्‍ती के साथ गर्म पानी का नियमित इस्‍तेमाल करें। यह खांसी में काफी राहत देता है। इसे बनाने के लिए थोड़ा पानी और सूखे अदरक के टुकड़े को मिलाकर उबालें और आधा होने तक पकाती रहें। इस मिश्रण को दिन में कई बार पिएं।

ब्रेकफास्‍ट में जरूरी है कॉम्बिनेशन फूड, दिखेगा जबरदस्त असर

शहद रखेगा निरोगी

यदि आपको सूखी खांसी है तो एक चम्‍मच शहद को काली मिर्च के पाउडर के साथ दिन में तीन से चार बार सेवन करें। शहद आपके गले की नमी बरकरार रखता है। इसके साथ ही गले में दर्द होने पर गर्म पानी का कुल्‍ला करें व पानी पिएं।

लें फल व सब्जियां

बॉडी में पेन व थकान महसूस होने पर मौसमी फलों का सेवन करें। यह आपको एनर्जी देंगी और मुंह का स्‍वाद भी बेहतर होगा। खांसी होने पर कच्‍ची सब्‍जी व सलाद बिलकुल भी न खाएं। खाने में करेला जरुर शामिल करें और बादी सब्‍जी बैंगन, आलू और भिंड़ी कुछ दिन कम खाएं।