बालों की समस्‍याओं को जड़ से खत्‍म करती है तुलसी की पत्तियां, जानें कैसे करें इसका प्रयोग

तुलसी के पौधे को पूरे भारत में पवित्र पौधों में गिना जाता है। आयुर्वेद में तुलसी की पत्तियों के ढेर सारे उपचार बताए गए हैं। इंसान तुलसी के पौधों का प्रयोग जड़ी-बूटी के रूप में लगभग 7000 साल से कर रहा है। तुलसी की पत्तियों में कई एंटीऑक्सीडेंट्स और मिनरल्स होते हैं, जो शरीर और त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं और कई रोगों को दूर करते हैं। इसके अलावा तुलसी की पत्तियां बालों के लिए भी बहुत फायदेमंद मानी जाती हैं।

अगर आप टूटते-झड़ते और सफेद बालों की समस्या से परेशान हैं, तो तुलसी की पत्तियां आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकती हैं। तुलसी की पत्तियों के प्रयोग से आपके बालों का झड़ना व टूटना बंद हो जाएगा और बाल काले और मजबूत भी बनेंगे। आइए आपको बताते हैं कि कैसे करना है तुलसी की पत्तियों का प्रयोग।

डैंड्रफ की समस्या में तुलसी की पत्तियों का ऐसे करे प्रयोग

अक्सर सिर की त्वचा में नमी की कमी हो जाने पर डैंड्रफ (रूसी) की समस्या हो जाती है। डैंड्रफ से मुक्ति पाने के लिए आप तुलसी की पत्तियों का प्रयोग कर सकते हैं। तुलसी में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, इसके प्रयोग से स्कैल्प स्वस्थ रहता है। आप 15-20 तुलसी की पत्तियां लें और इन्हें अच्छी तरह पानी से धोकर थोड़े से पानी के साथ पीस लें और पेस्ट बना ले। अब इस पेस्ट को अपने स्कैल्प पर लगाकर आधे घंटे (30 मिनट) के लिए छोड़ दें और फिर सिर को पानी से धो लें। ऐसा सप्ताह में 2 बार करने से आपकी डैंड्रफ कि समस्या खत्म हो जाएगी।

रूखे बालों कि समस्या से मिलेगी निजात

आजकल रूखापन बालों की एक आम समस्या है। बाहर की धूल-मिट्टी और बढ़ते प्रदूषण के कारण बाल थोड़ी देर में ही रूखे और बेजान से दिखने लगते हैं। रूखेपन को दूर करने के लिए तुलसी की पत्तियों को अच्छी तरह से धोकर फिर इसे पीसकर इसका 1 चम्मच रस निकाल लें। अब रात को सोने से पहले 1 चम्मच नारियल के तेल में 1 चम्मच तुलसी की पत्तियों का रस मिलाएं और सिर पर अच्छी तरह से लगाकर इसकी मसाज करें। इससे सिर में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ेगा। सुबह बालों को माइल्ड शैंपू से धो लें। इससे आपके बाल सिल्की हो जाएंगे और बालों की चमक भी बढ़ जाएगी।

टूटते और झड़ते बालों की समस्या के लिए ऐसे इस्तेमाल करें तुलसी कि पत्तियां

गलत खानपान और बढ़ते प्रदूषण के कारण आजकल बालों के झड़ने और टूटने की समस्या बहुत अधिक बढ़ गई है। ज्यातर लोग इसी समाया से जूझ रहे हैं। तुलसी की पत्तियां इस समस्या को दूर करने में आपकी मदद करती हैं। आप तुलसी की पत्तियों को अच्छी तरह से धोकर फिर इसे पीसकर इसका रस निकाल लें। एक विटामिन ई का कैप्सूल इस रस में मिलाएं और रात में सोने से पहले इसे सिर पर लगाएं। सुबह अपने बालों को आयुर्वेदिक शैंपू से अच्छी तरह से धो लें। सप्ताह में 3 दिन ऐसा करने से आपको फायदा होगा।

सफेद बालों की समस्या के लिए

सफ़ेद बालों कि समस्या से आज कल हर कोई परेशान हैं। कम उम्र में ही बाल सफ़ेद हो रहे हैं तो आप जवानी में ही बूढ़े लगने लगते हैं। इसलिए सफेद बालों को काला और घना बनाने के लिए आप तुलसी कि पत्तियों का प्रयोग कर सकते हैं। सफेद बालों को काला करने के लिए आप सूखे आंवले और तुलसी की पत्तियां लें। सूखे आंवलों को रात में 1/4 कप पानी में भिगोकर रख दें। सुबह इन भीगे आंवलों को निकाल लें और 12-15 तुलसी की ताजी पत्तियों को इनके साथ मिलाकर अच्छी तरह से पीस लें। अब इस पेस्ट को बालों पर लगाएं और 30 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर बालों को धो लें। 3-4 बार के प्रयोग से आपको बेहतर परिणाम दिखने लगेंगे।

इसके साथ ही अपने भेजन में खट्टे प्राकृतिक आहार जैसे- मौसमी, आंवला, संतरा, अंगूर, स्ट्रॉबेरीज आदि भी शामिल करें। खट्टे फलों में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो बालों को स्वस्थ, मजबूत और काले रखते हैं।