आपने चुकंदर के फायदे तो सुने ही होंगे, अब नुकसान भी जान लीजिए

अपने गहरे लाल रंग के लिए लोकप्रिय चुकंदर स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ानी हो या सौंदर्यता को बरकरार रखना हो। तो चुकंदर हर तरीके से फायदा पहुंचाता है। यह जीनस बीटा वल्गेरिस की किस्मों में से एक है और पौधे का जड़ वाला हिस्सा होता है। इसका सेवन ज्यादातर सलाद और जूस के रूप में किया जाता है।

इसमे सोडियम, पोटेशियम, क्लोरीन, सल्फर, आयोडीन, क्लोरीन, आयरन, कैल्सियम, विटामिन बी1, बी2 आदि जैसे तत्व उचित मात्रा मे पाये जाते है।  इसमें फॉलिक एसिड भी पाया जाता है। जो गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता है। वैसे चुकंदर खाना सेहत के लिए काफी फायदेमंद है, लेकिन इसका अधिक मात्रा में सेवन करना आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है।

आज हम आपको इसके नुकसान के बारे में बता रहे हैं।

ब्लड प्रेशर का कम होना

जिन लोगों का रक्तचाप कम रहता है, उन्हें चुकंदर के रस का सेवन नहीं करना चाहिए। और जो लोग हाई ब्लड प्रेशर से पीडि़त हैं और नियमित दवा का उपयोग करते है उन्हें भी चुकंदर का रस नहीं पीना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से ब्लड प्रेशर समान्य से बहुत कम हो जाएगा। दवा और चुकंदर का रस दोनों साथ में नहीं लेना चाहिए, हाई ब्लड प्रेशर वालों के लिए चुकंदर का रस किसी वरदान से कम नहीं है।

पेशाब और मल का रंग बदल जाना

चुकंदर का रस जरूरत से ज्यादा पीने से मल का रंग बदल जाता है। मल का रंग लाल या गुलाबी हो सकता है। जिससे लोगों को यह भ्रम हो जाता है की उनके पेशाब से या मल से खून आ रहा है और वे घबरा जाते हैं। इस स्थिति को बिटूरिया कहा जाता है जिसमें पेशाब और मल का रंग लाल हो जाता है। इसमे घबराने की बात नहीं है। चुकंदर मे बीटानिन नाम का तत्व पाया जाता है, जिस कारण से इसका रंग लाल हो जाता है। यह स्थिति चुकंदर के सेवन के 48 घंटे के बाद खुद ही नॉर्मल हो जाती है। अगर 48 घंटे के बाद भी पेशाब का रंग लाल हो तो डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए।

किडनी मे पथरी होने का खतरा

चुकंदर के जूस मे ओकसलेट होता है। यह ऐसा कंपाउंड है जो गुर्दे मे पथरी बनाने के लिए जिम्‍मेदार माना जाता है। चुकंदर का रस जरूरत से ज्यादा पीने से किडनी पर असर पड़ता है। जिन लोगों को किडनी मे स्टोन बनने का खतरा होता है उन्हें चुकंदर का रस पीने से परहेज करना चाहिए।

पेट खराब होने की समस्या

अगर आप बहुत ज़्यादा मात्रा मे चुकंदर का जूस पीते है तो आपका पेट खराब हो सकता है। चुकंदर के साथ किसी भी अन्य फल का जूस बराबर मात्रा मे मिलाकर पीना चाहिए। चुकंदर को कच्चे खाने से आपको गैस्‍ट्रो-इंटेस्टाइनल बीमारी हो सकती है। इसमे फ्रुक्टन्स होता है जिसे हम एक तरह का कार्बोहायड्रेट भी कह सकते है। जिसकी वजह से पेट संबंधी समस्या भी हो सकती है।

शुगर की समस्या

अगर आपको शुगर की समस्या है तो आपको चुकंदर का जूस का सेवन एक सीमित मात्रा मेंं करना चाहिए। आपका शुगर का लेवल नियंत्रित है तो आप 100 ग्राम जूस जिसमें 7  ग्राम शुगर होता है। उसे आप आराम से पी सकते है। लेकिन इसके लिए आपको फिर किसी अन्य स्रोत से शुगर नहीं लेनी है। और अन्य खाद्य सामग्री भी संतुलित मात्रा में लेने चाहिए।