इन रामबाण उपायों को अपनाकर कोरोना वायरस को कहें बाये-बाये  

coronavirus

भारत में कोरोना वायरस से अभी तक 25 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। पूरी दुनिया में वायरस के तेजी से फैलते खतरे को देखते हुए अमेरिका के सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल (सीडीसी) ने लोगों को सावधानी बरतने की सलाह दी है। आइए जानते हैं सीडीसी के निर्देशानुसार कोरोना वायरस से बचने के लिए आपके किन 10 बातों का विशेष ध्‍यान रखना है।

सीडीसी ने लोगों को सलाह दी है कि कोरोना वायरस से बचने के लिए व्‍यक्तिगत स्‍वच्‍छता का विशेष ध्‍यान रखें। किसी भी चीज को हाथ लगाने के बाद करीब 20 सेकेंड तक हाथों को साबुन या पानी से अच्‍छी तरह धोएं। थोड़ी-थोड़ी देर बाद हाथों को धोते रहें। हाथों को आंख, नाक या चेहरे के पास न ले जाएं। किसी बीमार व्‍यक्ति के संपर्क में आने से बचें। बुखार, खांसी या जुकाम वाले किसी व्‍यक्ति को न छुएं। ऐसे व्‍यक्तियों से लगभग 6 फीट की दूरी बनाए रखें। अगर आप कोरोना वायरस का शिकार हैं तो अपना ध्‍यान रखने के साथ-साथ किसी भी व्‍यक्ति के नजदीक न जाएं। इससे बढ़ते खतरे को रोकने में आसानी होगी।

कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद स्‍कूल, कॉलेज या ऑफ‍िस न जाएं। घर में रहें और डॉक्‍टर की सलाह का पूरा पालन करें। अपने हाथों से आंख, मूंह या नाक पर बार-बार हाथ न लगाएं। यदि ऐसा करते भी हैं तो साबुन या सैनिटाइजर से हाथों को अच्‍छी तरह साफ करें। ज्‍यादा भीड़भाड़ वाले स्‍थानों पर न जाएं। फोन या दूसरी जरूरी चीजें जिनका आप अत्‍यधिक इस्‍तेमाल करते हैं, उनकी सफाई का विशेष ध्‍यान रखें। अगर आपको बुखार, कफ, गले में खरास और सांस लेने में दिक्‍कत जैसी समस्‍या है या आप पिछले 14 दिनों में किसी बीमार व्‍यक्ति से मिले हैं तो इसे नजरअंदाज न करें। अपने डॉक्‍टर को तुरंत पूरी जानकारी दें।

छींकते या खांसते समय मूंह को टिशू पेपर या रूमाल से कवर करें और टिशू को तुरंत किसी बंद डस्‍टबिन में फेंक दें। कच्‍चा-अधपका मांस न खाएं। नॉनवेज खाते समय सफाई का विशेष ध्‍यान रखें। हाइजीन का विशेष ध्‍यान रखें और ठीक से पका हुआ मांस ही खाएं। कोरोना वायरस से संक्रमित देशों की यात्रा बिल्‍कुल न करें। जहां तक संभव हो सार्वजनिक स्‍थलों और सार्वजनिक परिवहन का उपयोग भी न करें। सीडीसी का कहना है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में फेसमास्‍क बहुत अधिक मददगार नहीं है। एक्‍सपर्ट्स के मुताबिक सामान्‍य व्‍यक्ति के लिए मास्‍क पहना उतना प्रभावी नहीं है, जितना हैंडवॉश करना और संक्रमित लोगों के नजदीक जाने से बचना है।