भारत पहुंचा कोरोनावायरस, जानें लक्षण, कारण और बचाव के तरीके   

रोना वायरस का संक्रमण इन दिनों पूरी दुनिया में फैल रहा है। आपको बता दें कि इसके कई संदिग्‍ध भारत में भी पाए गए हैं। कोराना वायरस एक ऐसा समूह है जो पक्षियों, स्‍तनधारी पशुओं और इंसानों में कई तरह की बीमारियां पैदा कर सकता है। इसका नाम कोरोना वायरस इ‍सलिए रखा गया क्‍योंकि इसको इलेक्‍ट्रॉन माइक्रोस्‍कोप से देखने पर इसकी सतह कुछ ऐसी दिखाई देती है जैसा कि सूर्य के चारों तरफ का चमकदार कोरोना होता है।

बिहार पशु विज्ञान विश्‍वविद्यालय के सूक्ष्‍य जीव विज्ञान विभाग की सहायक प्राध्‍यापक डा. सोनिया कुमारी का कहना है कि इस समूह के कुछ वायरस बहुत ज्‍यादा हानिकारक नहीं होते। कई बार मौसम बदलते समय जो हमें जुखाम, नाक बहना, गला खराब होना या बुखार इस तरह की परेशानियां आती हैं उनमें से बहुत सी इसी वायरस की वजह से हो सकती है।

वहीं कुछ कोरोना वायरस बड़े घातक हैं और उनके संक्रमण से इंसान की मृत्‍यु तक हो सकती है। अभी तक सबसे ज्‍यादा मामले चीन में देखने को मिले हैं। चीन के बाहर कोरोना वायरस केमामलोंकी अभी तक थाईलैंड, वियतनाम, ताइवान, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर, नेपाल, जापान, अमेरिका, आस्‍ट्रेलिया और फ्रांस में पुष्टि हुई है।

कोरोना वायरस के लक्षण

  • सांस लेने में तकलीफ
  • खांसी या फिर बहती हुई नाक
  • इसकी शुरूआत बुखार से होती है
  • इसके बाद सूखी खांसी होती है
  • गंभीर मामलों में यह संक्रमण निमोनिया या सार्स बन जाता है
  • किडनी फेल होने की स्थिति
  • उम्रदराज लोगों को अधिक टारगेट

बचने के उपाए

  • हाथ साफ रखना, मास्‍क पहनना और खान-पान साफ खाएं
  • किसी संक्रमित व्‍यक्ति के संपर्क में आने के फौरन बाद, पालतू या जंगली जानवरों से दूर रहें।
  • कच्‍चा या अधपका मांस खाने से बचें।
  • लोगों के सामने छींक आने पर नाक पर कपड़ा या टिशू रखें, सामने खड़े व्‍यक्ति से फासला बनाकर रखें।
  • यदि परिवार में कोई व्‍यक्ति ऐसे संक्रमण से जूझ रहा है तो दूसरे लोग दूरी बनाकर रहें।

संक्रमित हो जाने पर क्‍या करें

  • संक्रमित हो जाने की स्थिति में तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करें।
  • संक्रमित हो जाने पर मरीज फौरन जांच करें।
  • संक्रमण को देखते हुए मरीज को हल्‍का खाना दें।
  • नियमित रूप से टेस्‍ट कराते रहें।