अपनी लाइफस्टाइल में सुधार कर इस खतरनाक बीमारी को चुटकी में करें दूर  

migraine pain

माइग्रेन पिछले कुछ सालों में अधिक लोगों को अपना शिकार बना चुकी है। माइग्रेन के लक्षण तो आम सर दर्द की तरह होते हैं लेकिन इसका दर्द असहनीय होता है। इसमें दर्द के साथ उल्टियां भी होती हैं। माइग्रेन का दर्द 24 से 72 घंटे तक रहता है। यह सर के किसी भी हिस्‍से में और कई दिनों तक रहता है। कई बार तो यह दर्द जबड़े और कंधे तक पहुंच जाता है। माइग्रेन का कोई स्‍थाई इलाज नहीं है लेकिन लाइफस्‍टाइल में चेंज और सही खानपान से इसे कंट्रोल जरूर किया जा सकता है।

माइग्रेन के कई कारण हो सकते हैं। हर रोगी की सहने और रिएक्‍ट करने की क्षमता अलग-अलग होती है। माइग्रेन का मुख्‍य कारण तनाव है जो किसी भी वजह से हो सकता है। दिमाग में जब ब्‍लड वेसेल्‍स फूल जाती हैं और नर्व फाइबर्स से केमिकल निकलने लगते हैं। ब्‍लड वेसेल्‍स के फूल जाने से मस्तिष्‍क में ब्‍लड सर्कुलेशन धीमा हो जाता है और सिर में तेज दर्द होने लगता है।

यह हैं मुख्‍य कारण

1.  सही समय पर खाना ना खाना

2.  अधिक एसिडिटी बनना

3.  तेज शोर होना

4.  अधिक धूप या रोशनी में रहना

5.  एक ही जगह पर देर तक बैठे रहना

6.  अधिक और जोर-जोर से बात करना

7.  ज्‍यादा सोना या कम सोना

माइग्रेन को कंट्रोल करने के घरेलू नुस्‍खे

1.  लाइफस्‍टाइल में करें सुधार

2.  सुबह जल्‍दी उठना और जल्‍दी सोना

3.  सुबह उठने के आधे से एक घंटे के भीतर नाश्‍ता करना

4.  प्राणायाम और काडिर्यो एक्‍सरसाइज करें

5.  खट्टे फलों का सेवन ना करें

6.  खाने में मैग्निशियम, जिंक और ओमेगा फैटी एसिड को शामिल करें

7.  थोड़ा-थोड़ा कई बार खाएं

8.  कॉफी और डार्क चॉकलेट से बचें

ऐसा करने से बचें

1.   दिन में अधिक सोने से बचें

2.   अधिक धूप में न जाएं

3.   क्षमता से अधिक एक्‍सरसाइज न करें

4.   एसिडिटी न बनने दें कुछ हेल्‍दी खाते र‍हें