इस उम्र में क्‍यों बढ़ने लगता है महिलाओं का वजन, हैरान कर देगी यह वजह

weight gain

वजन बढ़ना आजकल आम समस्‍या हो गई है लेकिन महिलाओं का 40 की उम्र में आकर वजन बढ़ना कई समस्‍याओं को जन्‍म देता है। इसकी कई वजह हो सकती हैं जैसे मेडिकल प्रॉब्‍लम, खराब जीवनशैली, तनाव या नींद न आना। यदि महिलाएं अपने बढ़ते वजन के कारणों को जानती हों तो बढ़े हुए वजन को कम करना आसान हो जाता है। यदि आप भी इस समस्‍या से जूझ रही हैं तो उसके पीछे कुछ संभावित कारण हो सकते हैं।

शुगर का संतुलन बनाए रखें

वजन बढ़ने के कारण कई महिलाएं अपनी शुगर का प्रयोग पूरी तरह से बंद कर देती हैं
या कुछ महिलाएं जरुरत से ज्‍यादा शुगर का प्रयोग करती हैं। 40 साल की उम्र पार करने के बाद यदि आपकी डाइट में बहुत ज्‍यादा शुगर और उसके घटक बने रहते हैं तो हो सकता है कि आपका तेजी से वजन बढ़े। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि शरीर की कोशिकाएं इंसलिन की प्रतिरोधी हो सकती है। अधिक शुगर का सेवन करने से वजन तो बढ़ता ही है साथ ही टाइप 2 डाइबिटीज होने का खतरा भी बढ़ जाता है।

गर्मियों में स्किन को दें नेचुरल ग्‍लो, अपनाएं यह कारगर उपाय

तनाव बढ़ाता है वजन

जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे जिम्‍मेदारियां भी बढ़ती हैं जिस वजह से तनाव आना स्‍वभाविक है। यदि आप काम, घर और जिंदगी से जुड़े खास तरह के तनाव से जूझ रही हैं तो आपको इसकी कीमत चुकानी पड़ सकती है। शरीर में जब अधिक तनाव होता है तो शरीर ठीक से काम नहीं करता जिस वजह से वजन बढ़ने लगता है।

जरुरत से ज्‍यादा भूख लगना

40 की उम्र में महिलाओं को स्‍वभाव में आए बदलावों और विभिन्‍न हॉर्मोन संबंधी समस्‍याओं से डील करना पड़ता है। खासकर मेनोपॉज के बाद महिलाओं को बहुत भूख लगती है और उनकी भूख बढ़ जाती है। कम या ज्‍यादा खाना दोनों सेहत के लिए खराब होता है। कम खाने वाले लोगों के लिए यह स्थिति शानदार हो सकती है, फूड का पचाना आसान हो जाता है जबकि दूसरी ओर उससे वजन बढ़ने और अन्‍य समस्‍याओं का डर रहता है।

टमाटर का करें ऐसे उपयोग, हर कोई होगा आपकी खूबसूरती का दिवाना

खराब जीवनशैली हो सकती है कारक

गैर सेहतमंद खानपान की आदतें न सिर्फ महिलाओं के शरीर को 40 साल की उम्र में प्रभावित कर सकती है बल्कि बढ़ते वजन को बढ़ावा देती हैं। गलत और खराब जीवनशैली के चलते यदि आप भी अपने खाने पर ध्‍यान नहीं दे पा रही हैं तो सतर्क हो जाएं। सही समय पर सही खाने की आदत डालें। बेहतर होगा कि इसके लिए समयसारणी बनाएं और कड़ाई से उसका पालन करें।