21 दिन के लॉकडाउन से घर में रहकर न बढ़ाएं तनाव, फॉलो करें यह टिप्स

relieve stress

भारत में कोरोना वायरस से पीडित लोगों की संख्‍या लगभग 700 हो गई है। इस जानलेवा वायरस के डर से स्‍कूल, कॉलेज, ऑफिस सब बंद हो चुके हैं। ऐसे में सरकार भी लोगों को घरों में रहने की सलाह दे रही है। देश को पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया गया है। पूरे दिन घर में रहने से कई लोगों में स्‍ट्रेस की समस्‍या बढ़ रही है। इस समस्‍या के चलते नींद न आना, चिड़चिड़ापन, तनाव, गुस्‍सा जैसी परेशानियां देखने को मिल रही हैं। लॉकडाउन में स्‍ट्रेस की समस्‍या से छुटकारा पाने के लिए आप यह आसान से टिप्‍स अपना सकते हैं।

लें मॉर्निंग वॉक का सहारा

यह आपके लिए बेस्‍ट टाइम है जब आप स्‍वयं के लिए वक्‍त निकाल पा रहे हैं। ऑफिस और अन्‍य जिम्‍मेदारियों के चलते हम अपनी फिटनेस को इग्‍नोर करते हैं। इन 21 दिनों में आप अपने रुटीन में सुबह के वक्‍त रनिंग शुरू कर दीजिए। ताजा हवा में खुलकर सांस लेने से आपको दिमाग सही दिशा में दौड़ेगा और आप हर चीज को लेकर हाइपर नहीं होंगे।

करें पुराने दोस्‍तों से बात

जीवन की आपाधापी में कई रिश्‍ते और दोस्‍त पीछे छूट जाते हैं। यह वक्‍त है जब आप अपने दोस्‍तों से कई घंटों बात कर सकते हैं। अपनी पुरानी यादें ताजा कर सकते हैं। यदि दोस्‍तों से मिलने का मन करे तो उन्‍हें वीडियो कॉल करें और एक साथ बैठकर खाना खाएं पार्टी करें।

इंजॉय करें म्‍यूजिक

यदि आप लोगों के बीच रहकर भी अकेला महसूस करते हैं और यहां भी मानसिक अवसाद आपको पीछा नहीं छोड़ रहा है तो इंट्रस्टिंग बुक्‍स पढ़ना और लिखना शुरू कर दें। यदि आपको पेंटिंग करना पसंद है तो वह शुरू करदें। आपको बता दें कि टाइमपास के लिए म्‍यूजिक से बेहतर और कोई जरिया नहीं होता।

फिटनेस को दें समय

एक्‍सरसाइज करने से सेहत बनने के साथ तनाव भी कम होता है। एक्‍सरसाइस करने से हमारी बॉडी से हैपी हार्मोन निकलते हैं जिसके चलते हमारा तनाव कुछ ही पल में कम हो जाता है। यदि आपके पास एक्‍सासाइज का समय नहीं है तो आप दिन में 15 से 20 मिनट तक जरूर टहलें।

डाइट तथा नींद पर करें फोकस

आप जिस प्रकार का खाना खाते हैं आपको स्‍वभाव भी वैसा ही हो जाता है। खाना हमेशा फ्रेश और हेल्‍दी खाना चाहिए। इसके साथ ही भरपूर नींद लें। ऑफिस के चलते कई लोगों को नींद से समझौता करना पड़ता है यह सही समय है जब आप जीभरकर सो सकते हैं। इससे आपका मूड भी फ्रेश रहता है।