COVID-19 टीका लगवाने के लिए ऐसे करवाना होगा रजिस्‍ट्रेशन

coronavirus vaccination

भारत में COVID-19 टीका बनाने में जुटी तीन कंपनियों फाइजर (Pfizer), सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India), भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने अपने वैक्‍सीन कैंडीडेट्स को इमरजेंसी यूज ऑथोराइजेशन के लिए आवेदन कर दिया है। इसके साथ ही देश में टीकाकरण अभियान की जल्‍द ही शुरू होने की उम्‍मीद भी बढ़ गई है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने भी संपूर्ण टीकाकरण अभियान की योजना को अमली जामा पहनाना शुरू कर दिया है।

स्‍वास्‍थ्‍य सचिव राजेश भूषण (Health Secretary Rajesh Bhushan) ने बताया कि कोरोना वायरस वैक्‍सीन (coronavirus vaccine) की रियल-टाइम मॉनिटरिंग के लिए स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने एक डिजिटल प्‍लेटफॉर्म Co-WIN को विकसित किया है। इस Co-WIN प्‍लेटफॉर्म के जरिये लोग टीकाकरण के लिए अपने आप को रजिस्‍टर्ड करवाने में सक्षम होंगे।

स्‍वास्‍थ्‍य सचिव राजेश भूषण ने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि डिजिटल प्‍लेटफॉर्म Co-WIN एप्‍लीकेशन और डैशबोर्ड संपूर्ण टीकाकरण प्रक्रिया पर नजर रखने में मदद करेगा।

Co-WIN एप पर सेल्‍फ-रजिस्‍ट्रेशन की संपूर्ण प्रक्रिया:

  • आपको Co-WIN एप को डाउनलोड करना होगा। यह फ्री और आसान है। यह एप टीका लगाने की तारीख तय करने में मदद करेगा।
  • यदि कोई व्‍यक्ति टीका लगवाना चाहता है, तो उसे सबसे पहले अपना नाम रजिस्‍टर्ड करवाना होगा।
  • Co-WIN प्‍लेटफॉर्म में एडमिनिस्‍ट्रेशन मॉड्यूल, रजिस्‍ट्रेशन मॉड्यूल, वैक्‍सीनेशन मॉड्यूल, बेनेफ‍िशरी एक्‍नॉलेजमेंट मॉड्यूल और रिपोर्ट मॉड्यूल सहित कुल 5 मॉड्यूल होंगे।
  • एडमिनिस्‍ट्रेटर जो टीकाकरण सत्र का संचालन करेगा, उनके लिए एडमिनिस्‍ट्रेटर मॉड्यूल है। एडमिनिस्‍ट्रेटर सत्र को चालू कर सकता है और संब‍ंधित टीका लगाने वाला और प्रबंधक एडमिनिस्‍ट्रेटर मॉड्यूल के जरिये नोटिफ‍िकेशन भेज पाएंगे।
  • जो लोग टीकाकरण के लिए अपने आप को रजिस्‍टर्ड करना चाहते हैं, उन्‍हें रजिस्‍ट्रेशन मॉड्यूल का उपयोग करना होगा। यह मॉड्यूल बड़ी संख्‍या में डाटा को अपलोड करने में मदद करेगा।
  • लाभार्थी की जानकारी को प्रमाणित करने और टीकाकरण स्‍टेट्स को अपडेट करने के लिए वैक्‍सीनेशन मॉड्यूल मदद करेगा।
  • एक बार टीका लगने के बाद लाभार्थी को बेनेफ‍िशरी एक्‍नॉलेजमेंट मॉड्यूल के जरिये एक एसएमएस प्राप्‍त होगा और यह एक क्‍यूआर आधारित सर्टिफ‍िकेट भी प्रदान करेगा।
  • रिपोर्ट मॉड्यूल के तहत कितने वैक्‍सीन सत्र आयोजित किए गए, कितने लोगों ने सत्र में भाग लिया और कितने लोगों ने टीका नहीं लगवाया इन सबकी जानकारी प्रदान की जाएगी।