ये सुपर फूड करते हैं हार्ट अटैक के खतरे को कम, प्रतिदिन के आहार में शामिल करें इन्‍हें

heart attack

हार्ट अटैक दुनियाभर में एक महामारी की तरह फैल रहा है। आपको बता दें कि हार्ट अटैक की वजह से सबसे ज्‍यादा मौतें होती हैं। आजकल हार्ट अटैक केवल अधिक उम्र के लोगों तक ही सीमित नहीं है बल्कि छोटी उम्र के लोग इसका अधिक शिकार हो रहे हैं। शरीर में कॉलेस्‍ट्रॉल बढ़ने का मुख्‍य कारण गलत खानपान है। धमनियों में कैल्शियम, प्‍लाक, फैटी एसिड जैसे तत्‍व जमा हो जाते हैं जो ब्‍लॉकेज का काम करते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार यदि खानपान पर ध्‍यान दिया जाए तो धमनियों में जमा प्‍लाक धीरे-धीरे कम हो जाता है। अपने प्रतिदिन के आहार में शामिल करें यह आवश्‍यक चीजें।

प्रोटीन का पावर हाउस

कॉलेस्‍ट्रोल को कम करने में प्रोटीन अहम भूमिका निभाते हैं। अरहर, मूंग, मसूर, चना और उड़द जैसी दालों में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। आपको बता दें कि दालों में फाइबर की मात्रा अधिक होती है जिससे कॉलेस्‍ट्रॉल की मात्रा घटती है। दालों में कैल्शियम, पोटैशियम और मैग्‍नीशियम आदि पदार्थ भी मौजूद होते हैं। इनका सेवन हाई बीपी और हार्ट अटैक जैसी बीमारियों में कारगर है।

गो ग्रीन

ग्रीन टी पीना आजकल का फैशन बन गया है लेकिन आपको बता दें कि यह काफी फायदेमंद और विटामिन्‍स से भरपूर होता है। ग्रीन टी पीने से आपके शरीर का मेटाबॉलिज्‍म तेज हो जाता है। एक रिसर्च में यह पाया गया है कि ग्रीन टी में मौजूद ईजीसीजी नाम का पदार्थ होता है जो धमनियों में जमा फैट कम करता है जिससे धमनियां खुल जाती है। ग्रीन टी का नियमित रूप से सेवन करने से एलडीएल (बैड कॉलेस्‍ट्रॉल) और ट्राईग्लिसराइड्स की मात्रा घटती है।

हल्‍दी है हेल्‍दी

हल्‍दी आप सालों से खा रहे हैं लेकिन इसके गुणों के बारे में आपको जानकारी नहीं होगी। हल्‍दी का प्रयोग सालों से आयुर्वेदिक औषधि के रूप में किया जा रहा है। आपको बता दें कि हल्‍दी में कर्क्‍युमिन नाम का एक खास एंटीऑक्‍सीडेंट होता है जो धमनियों में फैट को जमा नहीं होता है जिससे धमनियां ब्‍लॉक नहीं होती हैं। खाने के अलावा इसका प्रयोग दूध में किया जा सकता है। प्रतिदिन यदि हल्‍दी के दूध का सेवन करते हैं तो शरीर में कई तरह के बदलाव देखने को मिलेंगे।