कोरोना काल में महिलाओं को हो रही है ये समस्या, क्यों है मेंटल हेल्थ जरूरी

depression

पिछले कुछ दिनों से महिलाओं पर ऑफिस और घर दोनों की जिम्‍मेदारियां काफी बढ़ी हैं। इस वजह से महिलाओं में मानसिक तनाव अधिक देखने को मिल रहा है। कई बार घर में ऐसा माहौल होता है कि महिलाएं चाहकर भी अपनी मन की बात व्‍यक्‍त नहीं कर पाती। इन जिम्‍मेदारियों के चलते वह डिप्रेशन की शिकार हो रही हैं। यदि घर के सभी सदस्‍य इन बातों का ध्‍यान दें तो महिलाओं को डिप्रेशन से उबारा जा सकता है।

महिलाओं से करें बात

महिलाओं की आदत होती है कि वह अपने दिल की बात किसी से शेयर नहीं करती। ऐसे में डिप्रेशन

का शिकार होना लाजमी है। महिलाओं को अपने अच्‍छे-बुरे अनुभवों को शेयर करना चाहिए। महिलाएं अंदर ही अंदर घुटती रहती हैं। परिवार के सदस्‍यों को उनके साथ अपनी और उनकी बात शेयर करनी चाहिए। इसके साथ ही परिवार के हर शक्‍स को महिलाओं के साथ काम में हाथ बंटाना चाहिए। आप काम में उनकी मदद करेंगे तो उनकी जिम्‍मेदारियां बटेंगी।

चैत्र नवरात्रि पर इस दिन बन रहा है विशेष योग, जानें नव ग्रहों की स्थिति

लिखने की डालें आदत

महिलाओं को कई रिश्‍ते और जिम्‍मेदारियों को निभाना पड़ता है जिस वजह से वह अपने दिल की बात किसी से नहीं कर पाती। जब महिलाओं को अपनी बात कहने का मौका न मिले तो उन्‍हें अपने विचार लिखने की आदत डालनी चाहिए। अपने दिल की बात लिखने से आप हल्‍का महसूस करेंगी। जब आप लिखने की आदत बनाएंगी तो एक दिन अपने मन की बात किसी के सामने व्‍यक्‍त करने की आदत भी बन जाएगी।

लक्ष्‍मी मां को बिल्‍कुल पसंद नहीं हैं ये चीजें, घर से निकाल फेंके ये 10 वस्‍तुएं

जरुरी है मी टाइम

महिलाएं आमतौर पर घर और ऑफिस में इतनी व्‍यस्‍त हो जाती हैं कि खुद के लिए समय नहीं निकाल पातीं और इस वजह से वह चिड़चिड़ी होने लगती हैं। तो मानसिक रूप से स्‍वस्‍थ रहने के लिए बहुत जरूरी है कि आप अपने लिए समय निकालें। वह काम करें जिससे आपको मानसिक खुशी मिलें। अपने छुपे हुए टेलेंट को उभारें। चाहें तो कोई हॉबी क्‍लास ज्‍वाइन कर लें।