जानें मकर संक्रांति का शुभ मुहूर्त, दिन में करें इन मंंत्रों का जाप

साल 2020 में सूर्य 14 जनवरी की शाम को मकर राशि में प्रवेश कर रहा है। संक्रांति का पुण्‍य स्‍नान सूर्योदय पर किया जाता है इसलिए इस बार संक्रांति 15 जनवरी को मनाई जाएगी। आपको बता दें कि 14 जनवरी को शाम 7:53 बजे सूर्य देव धनु से मकर राशि में प्रवेश करेंगे। 15 जनवरी को सूर्योदय से प्रात: 10 बजे तक पूजन के लिए सर्वश्रेष्‍ठ समय है।

इस दिन को मनाने के लिए प्रात: काल नहा-धोकर भगवान शिव जी की पूजा तेल का दीपक जला‍कर करें। भगवान शिव की प्रिय चीजों जैसे धतूरा, आक, बिल्‍व पत्र आदि को अर्पित करें। भविष्‍यपुराण के अनुसार सूर्य के उत्‍तरायन या दक्षिणायन के दिन संक्रांति व्रत करना चाहिए।

इस व्रत में संक्रांति के पहले दिन एक बार भोजन करना चाहिए। संक्रांति के पुण्‍य अवसर पर अपने पितरों का ध्‍यान और उन्‍हें तर्पण अवश्‍य प्रदान करनाचाहिए। सूर्यदेव को अर्ध्‍य दें। आदित्‍य ह्दय स्‍तोत्र का 108 बार पाठ करें। इस दिन तिलयुक्‍त खिचड़ी, रेवड़ी, लड्डू खाएं और दूसरों को भी खिलाएं। ब्राह्मण को गुड व तिल का दान करें और खिचड़ी खिलाएं।

मकर संक्रांति के दिन सूर्यदेव की निम्‍न मंत्रों से पूजा करनी चाहिए। ओम सूर्याय नम:, ओम आदित्‍याय नम:, ओम सप्‍तार्चिषे नम:, ओम सवित्रे  नम:, ओम वरुणाय  नम:, ओम सप्‍तसप्‍त्‍ये नम:, ओम मार्तण्‍डाय नम:, ओम विष्‍णवे नम: और ओम  ह्रीम ह्रींम ह्रौमं  स: सूर्य्याय नम:।