ये पांच मंत्र करेंगे जीवन से हर दुख-दर्द दूर, घर में हमेशा बनी रहेगी खुशहाली

happy mantras

वैदिक काल से ही मंत्रों का उच्‍चारण कार्य की सफलता और जीवन को सुखदाई बनाने के लिए किया जा रहा है। मंत्रों में काफी ताकत होती है। माना जाता है कि मंत्रों में देवी देवताओं की शक्ति समाहित होती है। हम आपको ऐसे मंत्रों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके जीवन के दुख-दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं साथ ही लाभ प्राप्‍ति में भी सहयोग कर सकते हैं।

1. अच्‍छे और बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य के लिए सूर्य की उपासना काफी लाभ पहुंचाती है। प्रतिदिन प्रात: उठकर सूर्य को जल अर्पित करें। इसके साथ ही नियमित रूप से ओम नम: शिवाय का जाप करें। यह मंत्र आपको नियमित रूप से करना है ताकि आपका मन शांत रहे। ऐसा करने से आपको जरूर फायदा होगा।

2. कई बार बिजनेस में आपका पार्टनर या क्‍लाइंट धोखा दे देते हैं। यदि आपकी कुंडली में ऐसा योग है तो साझेदारी से बचें। लिखा पढ़ी व कागजी मामले में हमेशा सावधानी बरतें। प्रतिदिन सूर्य को जल अर्पित करें और गायत्री मंत्र  ओम भूर्भूव: स्‍व:तत्‍सवितुर्वरेण्‍यं भर्गो देवस्‍य: धीमहि धियो योन: प्रचोदयात् का जाप करें। किसी अच्‍छे सलाहकार से बात करके पन्‍ना धारण करें।

3. धन लाभ के लिए हर व्‍यक्ति प्रयासरत रहता है। इस वर्ष धन लाभ के लिए राहु की उपासना करना फायदेमंद होगा। हो सके तो एक स्‍टील का छल्‍ला पहनें। इसके अलावा शाम के वक्‍त ओम रां राहवे नम: का जाप करें। मंत्र का जाप करने के साथ ही नियमित रूप से कुत्‍तों को रोटी, ब्रेड या फल खिलाएं। यह उपाए काफी आसान है लेकिन लाभ प्राप्‍त करने के लिए इसका नियमित रूप से जाप करना होगा।

4. बच्‍चों के मानसिक विकास और पढ़ाई को लेकर सभी अभिभावक काफी सजग रहते हैं। आपको बता दें कि भगवान गणपति बुद्धि और समझदारी के देवता हैं। इनकी उपासना करने से तीव्र बुद्धि प्राप्‍त कर सकते हैं। बुधवार के दिन सुबह के समय भगवान गणपति को 5 मोदक और 5 लाल गुलाब के फूल तथा पांच हरी दूर्वा की पत्तियां अर्पण करें और गाय के घी का दीपक जलाएं। इस उपाय के अलावा  ओम बुद्धिप्रदाये नम: मंत्र का जाप 108 बार करें। यह बच्‍चों के लिए काफी लाभदायक है।

5. कई बार हम ऐसे कोर्ट कचहरी के चक्‍कर में फंस जाते हैं। मुकदमेबाजी से मुक्ति पाने के लिए श्री भैरव की उपासना करें। नियमित रूप से हर रविवार को भैरव जी के मंदिर जाएं। उन्‍हें नारियल या सफेद मिठाई अर्पित करें। इसके साथ ही शाम को भैरव देव के मंत्र का जाप करें। ओम भं भैरवाय अनिष्‍टनिवारणाय स्‍वाहा मंत्र का जाप करें। यह मंत्र आपको वादविवाद और कोर्ट से दूर रखेगा।