एग्‍जाम की इन परेशानियों को दूर करेंगे महादेव, ऐसे करें पूजा

बोर्ड एग्‍जाम शुरू हो चुके हैं। ऐसे में स्‍टूडेंट्स के मन में डर और असमंजस की स्थिति सामान्‍य है। आपको बता दें कि भगवान शिव का संबंध ज्ञान से भी है। जिन स्‍टूडेंट्स को एग्‍जाम को लेकर भय है या फिर पढ़ाई में कोई बाधा आ रही है तो उन्‍हें महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूजा जरूर करनी चाहिए। शिव की अराधना करने से मुश्किल से मुश्किल काम आसान हो जाते हैं।

महाशिवरात्रि के दिन सुबह उठकर स्‍नान करने के बाद मंदिर में भगवान शिव को जल चढ़ाएं। बेल पत्री, पुष्‍प, फल, दूध, दही, घी, शहद और शक्‍कर से भगवान शिव का अभिषेक करें। शिक्षा में राहु-केतु बाधा उत्‍पन्‍न करते हैं। जब कुंडली में यह ग्रह खराब फल देने लगते हैं तो शिक्षा में कई तरह की बाधाएं आती हैं। वहीं यदि परीक्षा के दौरान तनाव या फिर भ्रम की स्थिति बनी रहती है तो भी समझ लेना चाहिए कि राहु केतु अशुभ फल दे रहे हैं।

इसके साथ ही यदि किसी भी प्रश्‍न के उत्‍तर को याद करने और विषय को समझने में दिक्‍कत आने लगे तो यह बुध की अशुभता के कारण होता है। भगवान शिव की पूजा करने से भगवान गणेश जी का भी आर्शीवाद मिलता है। बुध का संबंध गणेश जी से है। आज के दिन भगवान शिव की पूजा करने से माता पार्वती और भगवान गणेश प्रसंन्‍न होंगे।

पढ़ते वक्‍त जब ध्‍यान न लगे और भटकाव की स्थिति बनने लगे तो चंद्रमा का उपाय करना बहुत ही जरूरी हो जाता है। इसके लिए भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए। चंद्रमा को भगवान शिव अपनी जटाओं में धारण करते हैं। भगवान शिव की पूजा करने से चंद्रमा की अशुभता दूर होती है।