दिवाली पर ऐसे करें लक्ष्‍मी प्राप्ति साधना, होगी धन वर्षा

Lakshmi prapti sadhna

यदि आपको अचानक पैसों की जरूरत पड़ जाए तो आप क्या करेंगे? अगर आपको इसका उत्‍तर नहीं पता तो हम आपको बताते हैं। वैसे तो दीपावली पर लक्ष्मी जी की पूजा गणेश जी के साथ की जाती है, लेकिन अगर अचानक धन की तंगी हो जाए तो लक्ष्मी माता (lakshmi prapti sadhana) को नहीं, बल्कि उनके पुत्रों को पुकारिये। जब लक्ष्मी जी के पुत्रों का नाम लेंगे, तो मां दौड़ी चली आएंगी। ये ममता ही तो है, जो मां को बच्चों से जोड़ती है। गणेश जी लक्ष्मी जी के मानस पुत्र हैं। वैसे तो लक्ष्मी जी चंचला हैं, एक स्थान

पर नहीं टिकतीं, लेकिन दो स्थानों पर लक्ष्मी जी सदा निवास करती हैं। पहला वह स्थान जहां विष्णु जी का अभिषेक दक्षिणावर्ती शंख से किया जाता है और दूसरा वह स्थान, जहां गणपति की आराधना की जाती है।

लक्ष्‍मी जी के 18 पुत्रों का नाम जपने से भी धन तंगी से मुक्ति मिल जाती है। वैसे तो लक्ष्मी जी वहां सदा निवास करती हैं, जहां गणपति पूजे जाते हैं, लेकिन अचानक रुपए चाहिए तो एक नहीं, बल्कि लक्ष्मी जी के अनेक पुत्रों के नाम लेना होगा।

लेकिन आकस्मिक धन पाने के लिए आपको लक्ष्मी जी के 18 वर्ग पुत्रों के नाम लेने होंगे, इसके बाद धन की व्यवस्था स्वयं लक्ष्मी जी आकर करती हैं। अगर अचानक कारोबार में घाटा हो जाए, शेयर बाज़ार में पैसे डूब जाएं, अच्छी भली नौकरी चली जाए या फिर कोई प्राकृतिक आपदा आ जाए, ऐसे में धन की आवश्यकता सबको पड़ सकती है। बस ऐसी ही परिस्थिति में, लक्ष्मी जी के 18 पुत्रों का नाम,शुक्रवार से जपना शुरू कर दें और साथ मे उन्हे गुलाब का कम-से-कम एक पुष्प अर्पित करें।

लक्ष्मी जी के 18 पुत्रों के नाम

  •  ॐ देवसखाय नम:
  •  ॐ चिक्लीताय नम:
  •  ॐ आनन्दाय नम:
  •  ॐ कर्दमाय नम:
  •  ॐ श्रीप्रदाय नम:
  •  ॐ जातवेदाय नम:
  •  ॐ अनुरागाय नम:
  •  ॐ सम्वादाय नम:
  •  ॐ विजयाय नम:
  •  ॐ वल्लभाय नम:
  •  ॐ मदाय नम:
  •  ॐ हर्षाय नम:
  •  ॐ बलाय नम:
  •  ॐ तेजसे नम:
  •  ॐ दमकाय नम
  •  ॐ सलिलाय नम:
  •  ॐ गुग्गुलाय नम:
  •  ॐ कुरूण्टकाय नम:

अगर आप भी ऐसी किसी तंगी की परिस्थिति के शिकार हैं, जिसमें अचानक से रुपए की जरूतर है, तो यह उपाय शुक्रवार से आज़माएं। मां तो मां है,फिर लक्ष्मी ही क्यों न हों, बेटों के नाम पुकारेंगे तो मां दौड़ी चली आएंगी। अगर आपसे संभव हो तो मंत्र का जाप भी करें, ओम नम:कमलवासिन्यै स्वाहा। इस मंत्र का जाप आप रोजाना कर सकते है, सिर्फ मंत्र जाप हेतु शुद्धता का ध्यान रखिए।