घर की माली हालत सुधारने के लिए शुक्रवार को जरूर करें ये उपाय

achook upay for Friday

कोरोना महामारी की वजह से आई आर्थिक मंदी ने अधिकांश लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा कर दिया है। उद्योग-धंधे बंद होने से कई घरों की माली हालत बहुत ज्‍यादा खराब हो गई है। अगर आपके साथ भी ऐसा कुछ हुआ है तो आप मां लक्ष्मी की आराधना करें। शास्त्रों में माता लक्ष्मी को धन की देवी बताया गया है। मान्यता है कि जिस पर मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं, उसके पास धन धान्य की कमी नहीं रहती और परिवार में सुख शांति बनी रहती है। आज हम यहां कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं, जिनको शुक्रवार के

द‍िन अपनाकर आप माता लक्ष्मी को प्रसन्न कर सकते हैं।

गुरुवार को भूलकर भी न बनाएं ये चीज, वर्ना घर में आ जाएगा दुर्भाग्य

  1. ज्योतिषशास्त्र के मुताबिक कौड़ी को धन का प्रतीक माना जाता है। शुक्ल पक्ष के किसी भी शुक्रवार के दिन कुछ कौड़ियों को नेकर हल्दी में भिगो दें और तब तक भीगा रहने दें, जब तक उनमें पीलापन न आ जाए। बाद में इन पीली कौड़ियों को साफ लाल कपड़े में बांधकर एक पोटली बनाएं और घरकी तिजोरी में रख दें। कुछ ही दिनों में धन के नए रास्ते बनने लगेंगे।
  2. शंख को माता लक्ष्मी का भाई कहा जाता है क्योंकि शंख समुद्र मंथन के दौरान माता लक्ष्मी के साथ उत्पन्न हुआ था। इसे समुद्र मंथन में प्राप्त हुए प्रमुख रत्नों में से एक माना जाता है। इसके अलावा शंख भगवान विष्णु को भी बहुत प्रिय है। वे स्वयं इसे धारण करते हैं। इसलिए घर में पूजा के स्थान पर शंख जरूर रखें। मान्यता है कि ऐसी जगहों पर माता लक्ष्मी वास करती हैं। शंख दक्षिणमुखी हो तो और भी शुभ है। ये भी याद रखें कि जिस शंख से भगवान का पूजन करें उसे कभी न बजाएं। बजाने के लिए अलग शंख का इस्तेमाल करें।
  3. हर शनिवार को पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाएं और सरसों के तेल का दीपक जलाएं। इससे भी परिवार में समृद्धि आती है क्योंकि कलयुग में पीपल को कृष्ण भगवान का स्वरूप माना गया है और कृष्ण भगवान, विष्णु जी के अवतार हैं।
  4. सुबह पूजा के बाद आरती करते समय अपने दीपक में या कपूर में दो फूल वाली लौंग डालकर आरती करें। इससे सभी काम आसानी से बनेंगे। विपत्तियां दूर होंगी और घर में समृद्धि आएगी।
  5. घर में एक बांसुरी रखें। बांसुरी भगवान श्रीकृष्ण को अति प्रिय है। कहा जाता है कि जिस घर में बांसुरी होती है उस घर में हमेशा समृद्धि रहती है। धन प्राप्ति होती है। विपत्तियां दूर होती हैं और आपस में प्रेम रहता है।
  6. घर की स्त्री का सम्मान करें। स्त्रियों को माता लक्ष्मी का स्वरूप माना जाता है। मान्यता है कि जहां स्त्री का सम्मान नहीं होता, वहां माता लक्ष्मी की कृपा नहीं होती।

ऐसे लोगों के साथ कभी न करें मित्रता, वर्ना जिंदगी भर पड़ेगा पछताना

ध्यान रखें

ज्योतिष में मान्यता है कि पूजा पाठ करने से आपके भाग्य में परिवर्तन होता है क्योंकि इससे आपके ग्रहों की स्थितियां बदलती हैं। लेकिन वास्तविकता में बात की जाए तो पूजा पाठ के साथ कर्म करना भी बहुत जरूरी है। यदि आप मेहनत करेंगे तो ये उपाय आपकी भाग्य वृद्धि करेंगे। मेहनत और भाग्य के मिलने से आपके सिर्फ धन संबंधी ही नहीं बल्कि सभी काम बनेंगे।

Hast Rekha: अपनी हथेली पर इन 4 निशान का जानिए भाग्य कनेक्शन