कोरोना को भगाने के लिए ऐसे जलाएं दीपक, कल का दिन है खास

दीपक

दीपक हमारी खुशियों का प्रतीक है। हिन्‍दू धर्म में किसी भी शुभ कार्य से पहले दीपक जलाए जाते हैं। सुबह-शाम होने वाली पूजा में भी दीपक जलाने की परंपरा है। आपको बता दें कि वास्‍तुशास्‍त्र में दीपक जलाने व उसे रखने के संबंध में कई नियम बताए गए हैं। दीपक की लौ की दिशा किस ओर होनी चाहिए इस संबंध में वास्‍तुशास्‍त्र में पर्याप्‍त जानकारी मिलती है। वास्‍तुशास्‍त्र में यह भी बताया गया है कि दीपक की लौ किस दिशा में होने पर उसका क्‍या फल मिलता है।

घर में दीपक जलाने के फायदे

घर में सुबह-शाम दीपक जलाने के कई फायदे हैं। दीपक की लौ पूर्व दिशा की ओर रखने से आयु में वृद्धि होती है। दीपक की लौ पश्चिम दिशा की ओर रखने से दु:ख बढ़ता है। दीपक की लौ उत्‍तर दिशा की ओर रखने से धनलाभ होता है। दीपक की लौ दक्षिण दिशा की ओर रखने से हानि होती है। यह हानि किसी व्‍यक्ति या धन के रूप में भी हो सकती है।

दीपक जलाते समय करें मंत्र का जाप

किसी शुभ कार्य से पहले दीपक जलाते समय इस मंत्र का जाप करने से शीघ्र ही सफलता मिलती है। ‘दीपज्‍योति: परब्रह्म:, दीपज्‍योति: जनार्दन:, दीपोहरतिमे पापं संध्‍यादीपं नमोस्‍तुते…. शुभं करोतु कल्‍याणमारोग्‍यं सुखं सम्‍पदां, शत्रुवृद्धि विनाशं च दीपज्‍योति: नमोस्‍तुति…’

रविवार रात 9बजे करें दीपक की रो‍शनी

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस संकट की घड़ी में एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए संपूर्ण देशवासियों से 5 अप्रैल रविवार रात 9 बजे अपने घरों की लाइट बंद कर बालकनी और घर के बाहर दीपक, मोमबत्‍ती, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैश लाइट 9मिनट तक जलाने की अपील की है। इसके पीछे वैज्ञानिक तर्क भी दिए जा रहे हैं कि जब एक साथ इतने सारे दीपक जलाए जाएंगे तो इसकी गर्मी से कोरोना वायरस भस्‍म हो सकता है।