शनि की साढ़ेसाती से न डरें, फलदायी होंगे ये 6 उपाये

शनि के मकर राशि में प्रवेश करते ही कुंभ राशि वालों की साढ़ेसाती शुरू हो जाएगी। साढ़ेसाती से घबराने की जरूरत नहीं है। शनिदेव की त‍िरछी नजर से बचने के लिए बस प्रत्‍येक शनिवारके दिन ये उपाये करें:

1. यदि सूर्यास्‍त के समय पीपल के पेड़ के पास दिया जलाया जाए, तो शनिदेव की कृ‍पा दृष्टि होने लगती है। पेड़ किसी मंदिर में लगा हो तो ऐसे पीपल के पेड़ में सूर्य अस्‍त होते समय दिया जलाया जाए तो शनि के महादोष समाप्‍त हो जाएंगे।

2. शनिवार को सुबह उठकर स्‍नान कर एक कटोरी में तेल लेकर उसमें अपना चेहरा देखें और फ‍िर तेल को शनिवार को ही किसी गरीब या जिसे जरूरत हो उसे दान कर दें। शनिवार को तेल का दान करना शनिदेव को प्रसन्‍न करता है।

3. अगर आप दीपक नहीं जा सकते व तेल का दान नहीं कर सकते तो रुद्राक्ष की माला लेकर 108 बार ओम शं शनैश्‍चराय नम: का जाप कर लें, शनिदेव की कृपा बरसने लगेगी।

4. शनिदेव ने हनुमान जी को वचन दिया था कि जो आपकी पूजा करेगा मेरी भी कृपा उस पर रहेगी। हनुमान जी की पूजा करें। बंदरों को गुड-चना खिलाने से भी हनुमान जी प्रसन्‍न होते हैं। हनुमान चालीसा का नियमित पाठ करें।

5. शनिदेव को नीले रंग के फुल चढ़ाएं। शनिवार को दानपुण्‍य करने से भी शनि की कृपा होती है। इसके अलावा मन साफ रखें, गलत विचार मन में न लाएं और किसी पर अत्‍याचार न करें। दूसरों की मदद करें। शनिदेव न्‍याय के देवता हैं ऐसे में वो अपने भक्‍तजनों के साथ हमेशा अच्‍छा ही करते हैं।

6. अक्‍सर लोगों की आदत होती है कि जानवरों को मारते-पीटते हैं, जबकि ऐसा करना हर तरह से गलत है। जानवरों को प्रताडि़त करना शास्‍त्रों में भी पाप माना गया है, ऐसे लोगों को शनिदेव भी माफ नहीं करते हैं। काले कुत्‍ते को रोटी, काली गाय की पूजा, काली चींटी को आटा, काली मछी को आटे की गोली जैसे उपाये शनिदेव को खुश करते हैं।