Vastu Tips: घर में रखे ये सामान कर देंगे आपका बंटाधार, सुखी जीवन के लिए करें इन्‍हें बाहर

आम तौर पर अपने घर में हम तमाम तरह की चीजें रखते हैं। कुछ चीजें पुरानी और बेकार भी होती हैं लेकिन ध्‍यान न देने की वजह से वह घर के किसी कोने में पड़ी रहती है। भारतीय वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के अंदर रखी कुछ चीजें शुभ परिणाम लाती हैं, वहीं कुछ चीजें ऐसी भी हैं जिनका परिणाम अशुभ होता है। सुखी जीवन के लिए यह जानना जरूरी है कि घर में कौन सी चीजें रखें और किन चीजों को तत्‍काल घर से बाहर कर दें। आइए, आज इसी के बारे में विस्‍तार से जानते हैं।

यदि तमाम उपायों के बावजूद आपके घर के क्‍लेश नहीं दूर हो रहे हैं, आप लगातार कर्ज के बोझ से दबे जा रहे हैं और जीवन में कोई राह नहीं दिख रही है तो आप अपने घर में रखी चीजों पर एक बार नजर जरूर दौड़ाएं। घर के अंदर पड़ी कुछ बेकार चीजें जहां नकारात्मकता फैलाती हैं वहीं, कुछ चीजों को घर में लाने से उसके अशुभ प्रभाव झेलने पड़ते हैं।

आइए आज उन चीजों के बारे में जानते हैं, जिन्‍हें भूलकर भी घर में नहीं रखना चाहिए।

टूटी-फूटी वस्तुएं

टूटे-फूटे बर्तन, शीशा, इलेक्ट्रॉनिक सामान, तस्वीर, फर्नीचर, पलंग, घड़ी, दीपक, झाड़ू, मग, कप आदि कोई सा भी सामान घर में   नहीं रखना चाहिए । इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा का निर्माण होता है और व्यक्ति को मानसिक परेशानियां झेलनी पड़ती है।   ऐसा भी कहा जाता है कि इससे वास्तु दोष तो उत्पन्न होता ही है, साथ ही लक्ष्मी का आगमन भी रुक जाता है।

नटराज की मूर्ति

नटराज की मूर्ति अर्थात् तांडव करते हुए भोलेनाथ का चित्र । जो व्यक्ति सुख की कामना करता हो ,उसे कभी भगवान शिव के इस रौद्र रूप वाली मूर्ति या फोटो नहीं लगानी चाहिए। क्योंकि भगवान भोलेनाथ का तांडव विनाशकारी होता है।

महाभारत की फोटो या पेंटिंग

घर में सिर्फ महाभारत ही नहीं बल्कि उससे जुड़ी तस्वीरों का होना भी अशुभ माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि महाभारत की तस्वीर घर में लगाने से कलह होता है।

शंख और रथ की एक साथ वाली तस्वीर

वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर में शंख और रथ की एक साथ वाली तस्वीर नहीं रखनी चाहिए क्योंकि रथ के साथ शंख युद्ध का प्रतीक माना जाता है। भगवान कृष्ण की रथ पर शंख के साथ जो भी तस्वीर है, वह युद्ध का संकेत देती है। ऐसे में ऐसी तस्वीर को घर में लगाने से बचें।

पुराने या फटे कपड़े

ज्यादातर लोग अपने घरों की अलमारी या दीवान में फटे-पुराने कपड़ों की एक पोटली रखते हैं।
फटे-पुराने कपड़ों या चादरों से भी घर में नकारात्मक ऊर्जा का निर्माण होता है। इस तरह के वस्त्रों को या तो किसी को दान कर देना चाहिए या इसका किसी और काम में उपयोग करना चाहिए।

कांटेदार पौधे या उनके चित्र

बहुत से लोगों को पेड़-पौधे लगाने का शौक होता है। हो सकता है कि यह शौक आप भी रखते हों। कांटेदार पौधे नकारात्मक ऊर्जा को उत्पन्न करते हैं। ऐसे में उनकी तस्वीर को भी घर में लगाने से बचें। ऐसी मान्यता है कि कांटेदार पौधे से परिजनों के बीच आपसी प्रेम में कमी आती है और मतभेद पैदा होता है।

देवी-देवताओं की खंडित मूर्ति

भगवान की पूजा आप जरूर करते होंगे और उनकी मूर्ति भी आपके घर में होगी लेकिन कई बार अनजाने में भगवान की मूर्तियों से भी व्यक्ति को नुकसान उठाना पड़ता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में कभी भी देवी-देवताओं की खंडित मूर्ति नहीं रखनी चाहिए। घर में पुरानी, खंडित और पूजा में प्रयोग नहीं की जाने वाली मूर्तियों को घर के किसी भी कोने में न रखें और शीघ्र से शीघ्र उसे बाहर कर दें। खंडित मूर्ति की पूजा से न सिर्फ मन भटकता है, बल्कि इससे घर में नकारात्मकता ऊर्जा भी बढ़ती है।

मकड़ी का जाला

अक्सर लोगों के घर के किसी कोने के उपरी हिस्से में जाले लग जाते हैं। घर में बनने वाले मकड़ी के जालों को तुरंत हटा देना चाहिए। इनसे आपके अच्छे दिन बुरे दिनों में बदल सकते हैं।

बेकार बची हुई दवाईयां

घर में कभी भी बेकार दवाईयां न रखें। मान्यता है कि बेकार पड़ी दवाईयां रोगों को आने का दावत देती हैं। इसलिए प्रयोग में न आने वाली दवाईयों को जल्दी से जल्दी घर से बाहर कर देना चाहिए।