ऑनलाइन होंगे बाबा के दर्शन, रद्द हुई अमरनाथ यात्रा

amarnath yatra

कोरोना महामारी के व्‍यापक रूप को देखते हुए इस बार की वार्षिक अमरनाथ यात्रा को रद्द करने का फैसला लिया गया है। आपको बता दें कि 23 जून को अमरनाथ यात्रा की शुरूआत करनी थी। अभी इसकी तैयारियां आरंभ ही नहीं हो पाई थी कि कोरोना वायरस के कारण तैयारियों को रोक दिया गया है। इस बार की यात्रा को रद्द करने का फैसला अमरनाथ श्राइन बोर्ड के अध्‍यक्ष उप राज्‍यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू की अक्ष्‍यक्षता में हुई बैठक में लिया गया। प्रवक्‍ता के अनुसार कश्‍मीर घाटी में 77 रेड जोन ऐसे इलाकों में हैं जो यात्रा मार्ग में पड़ते हैं।

आपको बता दें कि लॉकडाउन के चलते अमरनाथ यात्रा के लिए एडवांस बुकिंग 15 अप्रैल से बढ़ाकर 4 मई तक की गई थी। 1 अप्रैल से यात्रा पंजीकरण शुरू होना था पर लॉकडाउन के चलते पहले इसे 15 अप्रैल तक स्‍थगित किया गया था। इसके अलावा जुलाई और अगस्‍त महीनों में प्रदेश में होने वाली अन्‍य दर्जनों धार्मिक यात्राओं पर भी आशंका के बादल मंडरा रहे हैं। इनमें प्रमुख बुड्ढा अमरनाथ और मचेल यात्रा हैं।

श्राइन बोर्ड का कहना है कि इस महामारी के कारण लंगर की स्‍थापना, चिकित्‍सा सुविधा, सामग्री जुटाना, हिम निकासी संभव नहीं है। उन्‍होंने आगे जोर देकर कहा है कि यदि भारत सरकार ने 3 मई तक देशव्‍यापी लॉकडाउन किया गया है और यह कितने दिन और होगी कहना मुश्किल है। यात्रियों की सुरक्षा हमारा प्रमुख महत्‍व है जिसकी खातिर इस बार यात्रा को रद्द करने का फैसला लिया गया है।

बोर्ड द्वारा यह भी निर्णय लिया गया है कि प्रथम पूजा और संपन्‍न पूजा पारंपरिक उत्‍साह के साथ की जाएगी। यह भी तय किया गया है कि बोर्ड शिवलिंग की पूजा और दर्शन को ऑनलाइन प्रसारित करने और दुनियाभर के लाखों भक्‍तों के लिए अन्‍य मीडिया के माध्‍यम से इसकी संभावना तलाशेगा।