ये 10 संकेत बताते हैं हनुमान जी आपसे प्रसन्‍न हैं या नहीं

Hanuman Ji

कलयुग में हनुमान जी को एक जागृत देव माना गया है। वे बहुत ही जल्‍द प्रसन्‍न होने वाले भगवान हैं, उनकी कृपा निरंतर सभी भक्‍तों पर बरसती है। आज हम यह आपकों कुछ ऐसे संकेतों के बारे में बता रहे हैं जिससे आप यह पता लगा सकते हैं हनुमान जी आपसे प्रसन्‍न हैं या नहीं।

  1. यदि आपके हाथों में मंगल रेखा स्‍पष्‍ट दिख रही है तो निश्चित ही हनुमान जी आपसे प्रसन्‍न हैं। इसके लिए शर्त यह है कि आपको बुराइयों से दूर रहना होगा।
  2. यदि कुंडली में मंगल मेष, वृश्चिक या मकर राशि में है या सूर्य-बुध एक ही जगह पर बैठे हैं या दसवें भाव में मंगल है तो माना जाता है कि यह मंगल नेक है। मंगल नेक का अर्थ है कि हनुमान जी की कृपा आप पर बनी हुई है।
  3. यदि आपका दिल मजबूत है, ऊपर का होंठ बड़ा और अच्‍छा है, रक्‍त एकदम शुद्ध है और आंखों की ज्‍योति सही है तो माना जाता है कि मंगल शुभ है। मंगल के शुभ होने का अर्थ है कि आप पर हनुमान जी की कृपा है।
  4. यदि आपको हनुमान जी या राम जी सपने में किसी भी प्रकार से दर्शन देते हैं तो समझ लीजिए आप पर दोनों की कृपा बरस रही है।
  5. यदि आपके घर में रामायण पाठ होता रहता है या राम जप चलता रहता है या नियमित रूप से आप हनुमान चालीसा पढ़ते रहते हैं तो निश्‍चित ही आप पर हनुमान जी कृपा बन रही है। हनुमान जी जिस पर प्रसन्‍न होते हैं वह व्‍यक्ति भयमुक्‍त और निर्भिक जीवन जीता है। ऐसे व्‍यक्ति के जीवन में किसी प्रकार का संकट नहीं होता है।
  6. निर्भिक, साहसी और शक्तिशाली होकर भी आप नेक, न्‍याय प्रिय और विनम्र हैं तो निश्चित ही आपसे हनुमान जी प्रसन्‍न हैं। जैसे आप नेता, सैन‍ि‍क, पुलिस या उच्‍चपदासीन अधिकारी होकर भी विनम्र और सच्‍चे हैं तो हनुमान जी आपसे जरूर प्रसन्‍न होंगे।
  7. हनुमान जी जिससे प्रसन्‍न होते हैं वह व्‍यक्ति हर क्षेत्र में प्रगति करता है। उसके जीवन में किसी भी प्रकार की बाधा और कष्‍ट नहीं होता है। उसके हर कार्य आसानी से होते हैं। उसके जीवन में स्‍थायित्‍व आता है।
  8. यदि आप मन, वचन और कर्म से एक और पवित्र हैं, अर्थात आपकी कथनी और करनी में भेदभाव नहीं है तो आप समझ लें कि हनुमान जी की आप पर कृपा है। आप कभी भी झूठ नहीं बोलते हैं, किसी भी प्रकार का नशा नहीं करते हैं, मांस का भक्षण नहीं करते हैं और अपने परिवार के सदस्‍यों से प्रेमपूर्ण संबंध बनाकर रखते हैं, तो निश्चित ही आप पर हनुमान जी की कृपा है इसलिए आप ऐसा नहीं करते हैं।
  9. आप पर किसी भी प्रकार से शनि की साढ़े साती, ढैया या अन्‍य किसी भी तरह की शनि पीड़ा का असर नहीं होता है तो निश्चित ही आप पर हनुमान जी की कृपा है।
  10. यदि आपसे आपके बड़े या छोटे भाई एवं सभी मित्र प्रसन्‍न रहते हैं और आगे आगर आपकी मदद करने के लिए तत्‍पर रहते हैं तो निश्चित मान लीजिए की आप पर हनुमान जी प्रसन्‍न हैं।