नवरात्रि में ऐसे करें घट स्थापना, परिवार में आएंगी खुशियां

chaitra navratri

चैत्र नवरात्रि का पर्व शुक्‍ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से आरंभ हो रहा है। यह पावन पर्व रामनवमी तक होता है। इन नौ दिनों में मां के विभिन्‍न रूपों की पूजा की जाती है। नवरात्रि की पूजा पूरे विधि विधान से की जाती है। आपको बता दें कि चैत्र नवरात्रि की पूजा का आरंभ घट स्‍थापना से होता है। घर में नवरात्रि के दौरान घट की स्‍थापना शुभ मुहूर्त में की जाती है उस घर में सुख समृद्धि आती है। घट स्‍थापना के बाद नवरात्रि के दिनों में अखंड ज्‍योति प्रज्‍जवलित की जाती है।

इस व्रत में व्रत रखने वाले संकल्‍प लेते हैं। व्रत को पूरे संयम और अनुशासन से करना चाहिए। व्रत का पूरा लाभ पाने के लिए मुहूर्त का काफी ध्‍यान रखना होगा। पंचांग के अनुसार घट स्‍थापना 25 मार्च को प्रात: 6 बजकर 19 मिनट से 7 बजकर 17 मिनट के बीच शुभ मुहूर्त में करनी चाहिए।

घट स्‍थापना के समय घर के सभी सदस्‍यों को उपस्थित रहना चाहिए। ऐसा करने से सभी प्रकार की नकारात्‍मक ऊर्जा से मुक्ति मिल जाती है। घट स्‍थापना से पहले पूरे स्‍थान को पवित्र करना चाहिए। घट को हमेशा सुरक्षित स्‍थान पर रखना चाहिए ताकि वह दूषित न हो सके नवरात्रि में कई लोग नौ दिन का व्रत रखते हैं। ऐसा जरुरी नहीं कि जो घट स्‍थापना करता है उसे नौ दिन का व्रत रखना जरुरी होता है। घट स्‍थापित करनेसे घर में  सुख शांति आती है और सफलता मिलती है।