इस बार होली होगी बेहद खास,500 सालों बाद बन रहे हैं दुर्लभ योग-संयोग

holi

होली का त्‍योहार सभी के जीवन में नई उमंग और खुशियां लेकर आता है। इस बार होली 29 मार्च 2021 को फाल्‍गुन मास की कृष्‍ण पक्ष की प्रतिपदा तिथि को है। आपको बता दें कि इस दिन बहुत ही शुभ ध्रुव योग का निर्माण हो रहा है। यह योग लगभग 500 सालों के बाद इस होली में एक विशेष दुर्लभ योग भी बन रहा है। इसी प्रकार का योग पहले 3 मार्च 1521 को निर्मित हुआ था। 29 मार्च को होली में चंद्रमा, कन्‍या राशि में विराजमान रहेंगे।

इस दिन लगने जा रहा है साल का पहला चंद्र ग्रहण,

जानें समय और तिथि

इसके साथ ही गुरु और शनि ग्रह अपनी ही राशियों में रहेंगे। इससे पहले इन ग्रहों का ऐसा संयोग 3 मार्च 1521 में बना था। आपको बता दें कि गुरु की राशि धनु है जबकि शनि की राशि मकर है। कई वर्षों बाद होली पर सूर्य, ब्रह्मा और अर्यमा भी साक्षी होंगे। जो कि बहुत ही दुर्लभ योग है। इस वर्ष होली सर्वार्थसिद्धि योग में मनेगी और इस दिन अमृतसिद्धि योग भी रहेगा।

इंटरमिटेंट फास्टिंग से पाएं मनचाहा फिगर, बस करना है थोड़ा सा नियंत्रण

इस दिन से लगेगा होलाष्‍टक

होली के आठ दिन पहले से होलाष्‍टक लग जाता है। होलाष्‍टक के दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किए जाते। इसी वजह से शादी, गृह प्रवेश, मांगलिक कार्य नहीं किए जाते। होलाष्‍टक 21 मार्च से आरंभ होकर 28 मार्च तक रहेगा। होलिका दहन 28मार्च रविवार को होगा।

होलिका दहन का मुहूर्त

18 बजकर 37 मिनट से 20 बजकर 56 मिनट तक