कन्‍याभोज और भंडारे से रहें दूर, वायरस के चलते नवरात्रि में न होंं इकट्ठे

navratri

नवरात्रि शुरू हो गए हैं। नवरात्रि 25 मार्च से 2 अप्रैल तक रहने वाले हैं। आमतौर पर इस समय हर जगह भंडारे और कन्‍या पूजन का आयोजन किया जाता है। कोरोना वायरस के चलते इस प्रकार के धार्मिक कार्यक्रम कन्‍याओं और आम लोगों के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकते हैं।

इस नवरात्रि बच्चियों को ना ही कन्‍या पूजन के लिए आस-पड़ोस में भेजें और न ही पास में हो रहे भंडारे का प्रसाद खाएं। लोगों का प्रत्‍यक्ष रूप से संगठित रहना वायरस का खतरा बढ़ा सकता है। आप घर में या घर से बाहर कहीं भी भीड़ में शामिल होने से बचें। नवरात्रि में लोग भजन और कीर्तन के लिए ए‍कत्रित होते हैं जोकि आपके लिए खतरा पैदा कर सकता है।

लॉकडाउन के चलते 21 दिन मार्केट, स्‍कूल और मंदिर सब बंद रहेंगे। छोटे मोहल्‍ले और नुक्‍कड़ में छोटे मंदिर लोगों की नादानी से खुल सकते हैं लेकिन अपनी और दूसरों की सुरक्षा हेतु ऐसे किसी भी मंदिर में पूजा-अर्चना के लिए प्रवेश न करें।  वायरस लोगों के छींकने, खांसने और छूने से फैलता है इसलिए किसी भी सार्वजनिक स्‍थान पर न जाएं।

यदि आपको घर में ही कन्‍या भोजन करना चाहते हैं तो आपके घर में एक भी कन्‍या है तो आप उसे पूरे नौ दिन नवमी की तरह ही भोजन करवाइए। इससे आपकी इच्‍छा और मनोकामनाएं पूर्ण होंगी साथ ही वायरस से खतरा भी कम हो जाएगा। इसके साथ ही कन्‍या भोज का खाना किसी भी मंदिर में जाकर न बांटे। अपने घर के बच्‍चों के साथ दूसरे बच्‍चों का भी विशेष ध्‍यान रखें।